अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण पांच अगस्त को,मोदी करेंगे भूमि पूजन

नईदिल्ली। रविवार,19 जुलाई 2020, अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण का भूमि पूजन पांच अगस्त को होगा जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भी शामिल होने की संभावना है। समाचार वार्ता के मुताबिक प्रधानमंत्री कार्यालय से संकेत दिए गए हैं कि वह पूर्वाह्न 11 बजे के आसपास अयोध्या पहुंचेंगे और अभिजीत मुहूर्त में भूमि पूजन संपन्न कराएंगे। हालांकि अभी तक प्रधानमंत्री के अयोध्या के कार्यक्रम की आधिकारिक जानकारी घोषित नहीं की गई है।सूत्रों के अनुसार श्री रामजन्मभूमि तीर्थक्षेत्र न्यास की ओर से मोदी को तीन एवं पांच अगस्त को आने का न्योता दिया गया था। प्रधानमंत्री की ओर से पांच अगस्त की तिथि की पुष्टि की गई है। बताया गया है भाद्रपद कृष्ण पक्ष की द्वितीया सह तृतीया तिथि सर्वार्थ सिद्धि योग वाली है और पूर्वाह्न 11 बजकर 41 मिनट से 12 बजकर सात मिनट के बीच अभिजीत मुहूर्त में भूमि पूजन संपन्न होने की योजना है।कोविड 19 महामारी के कारण भूमि पूजन का कार्यक्रम कई बार टाला जा चुका है।

जैसा कि आपको पता है कि राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की दूसरी बैठक शनिवार को सर्किट हाउस में हुई थी । बैठक में शामिल होने के लिए ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, कामेश्वर चौपाल, नृत्यगोपाल दास, गोविंद देव गिरी महाराज और दिनेंद्र दास समेत दूसरे ट्रस्टी सर्किट हाउस में मौजूद रहे। बैठक के बाद कामेश्वर चौपाल ने बताया था कि तीन और पांच अगस्त की दो तारीखें नींव रखने के लिए प्रधानमंत्री को भेजी गयी हैं। जिस तिथि को वह उपस्थित होंगे, उस दिन मंदिर निर्माण की नींव रखी जायेगी।राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की बैठक करीब एक घंटे तक चली। बैठक के बाद श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि बैठक में फैसला किया गया कि मानसून के बाद स्थिति सामान्य होने पर मंदिर निर्माण के लिए वित्तीय सहायता की कवायद शुरू की जायेगी। इसके लिए देश के चार लाख इलाकों के करीब 10 करोड़ परिवारों से संपर्क किया जायेगा।साथ ही उन्होंने बताया कि स्थिति सामान्य होने के बाद, धन एकत्र कर मंदिर निर्माण के लिए सभी ड्राइंग पूरे होने के बाद उम्मीद है कि तीन-साढ़े तीन वर्षों के अंदर मंदिर का निर्माण पूरा किया जायेगा।बता दें कि बीते गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी के पूर्व प्रधान सचिव और मंदिर ट्रस्ट निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्रा ने अयोध्या का दौरा किया था। उनके साथ बीएसएफ के पूर्व महानिदेशक और राम जन्मभूमि ट्रस्ट के सुरक्षा सलाहकार के.के शर्मा भी थे। इसी दिन नृपेंद्र मिश्र ने सर्किट हाउस में ट्रस्ट के सदस्यों के साथ करीब दो घंटे तक बैठक की थी। सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री की ओर से पांच अगस्त की तिथि की पुष्टि की गई है। बताया गया है भाद्रपद कृष्ण पक्ष की द्वितीया सह तृतीया तिथि सर्वार्थ सिद्धि योग वाली है और पूर्वाह्न 11 बजकर 41 मिनट से 12 बजकर सात मिनट के बीच अभिजीत मुहूर्त में भूमि पूजन संपन्न होने की योजना है। 

Spread the love