गुना जिले में फिर विवाद, दो गुटआपस में भिड़े,पुलिस ने भीड़ को काबू करने के लिए गोलियां दागीं ,14 घायल

गुना। गुना के जगनपुर में दलित किसान की पुलिस द्वारा पिटाई मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ कि दूसरा प्रकरण  हो गया। फतेहगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम बीलखेड़ा एवं डोबरा के करीब 50 बीघा वनभूमि पर अवैध कब्जे को लेकर आज दो पक्षों में भारी विवाद हुआ। दोनों ओर से एक-दूसरे पर पत्थरबाजी की गई। 

 
जानिए क्या है मामला 

वन भूमि पर जंगल की अवैध कटाई को लेकर रविवार को दो पक्षों में जमकर विवाद हुआ। एक-दूसरे पर लाठी, फरसे और गोफन से हमला किया गया, जिससे एक पक्ष के 10 और दूसरे पक्ष के चार लोग घायल हो गए हैं। एक पक्ष मुस्लिम तो दूसरा भील समुदाय का है।
मौके पर पहुंची पुलिस ने उग्र भीड़ को नियंत्रित करने के लिए हवा में तीन गोलियां दागीं। मुस्लिम समुदाय पर कार्रवाई करने की मांग को लेकर भील समुदाय के लोगों ने लाठियां लेकर थाने का घेराव किया। विवाद वन विभाग की जमीन पर जंगल की अवैध कटाई को लेकर हुआ।
एक पक्ष के लोग कटाई कर रहे थे, जबकि दूसरे पक्ष के लोगों ने इसका विरोध किया। हमले में एक पक्ष के करामत, जफर, तबरेज, फिरोज, मुश्ताक, मुनावर, जिगर समेत 10 लोग घायल हुए। दूसरे पक्ष के वर सिंह, बड़ी, दौलतराम व अमर सिंह को चोटें आई हैं। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। पुलिस ने दोनों पक्ष की रिपोर्ट पर प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस ने भीड़ को काबू करने के लिए हवा में तीन गोलियां दागीं। इसके बाद भील समुदाय के लोग बड़ी संख्या में लाठियां लेकर फतेहगढ़ थाना पहुंचे और घेराव किया। भीड़ को देखते हुए यहां आसपास के थानों का पुलिस बल बुलाया गया। कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम और पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह भी मौके पर पहुंचे।
आपको याद ही होगा कि गुना जिले के ही ग्राम जगनपुर में सरकारी जमीन से कब्जा हटाने के दौरान पुलिसकर्मियों ने किसान दंपती से मारपीट की थी। यह मामला अभी शांत नहीं हुआ है और जिले में दूसरा विवाद सामने आ गया।

Spread the love