स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 – इंदौर देश का सबसे अधिक स्वच्छ शहर घोषित, प्रधानमंत्री मोदी आज वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर करेंगे घोषणा

  • सफाई के मामले इंदौर लगातार चौथी बार नंबर-1 बन गया है।
  • इंदौर ने 4242 शहरों के बीच अपना पहला स्थान पक्का किया है।
  • पहली और दूसरी बार सफाई में नबंर वन का ताज दिलाने वाले वर्तमान निगम आयुक्त मनीष सिंह अब इंदौर कलेक्टर हैं
  • अर्बन मिनिस्टर हरदीप पुरी की मौजूदगी में गुरुवार को दिल्ली में ऑनलाइन कार्यक्रम में परिणाम की घोषणा की गई।

इंदौर। स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में मध्यप्रदेश का इंदौर शहर आज देश का सबसे अधिक स्वच्छ शहर घोषित किया गया है। केंद्र सरकार की ओर से स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के नतीजे घोषित किए गए हैं। इंदौर को देश का सर्वश्रेष्ठ स्वच्छ शहर घोषित किया गया है। इंदौर के खाते में यह उपलब्धि चौथी बार आयी है।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस संबंध में ट्वीट करते हुए इंदौर वासियों, अधिकारियों और स्वच्छता योद्धाओं को बधाई देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति आभार व्यक्त किया है। चौहान ने लिखा है ‘आज मध्यप्रदेश के लिए गर्व और प्रसन्नता का क्षण हैं। स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में देश के सबसे स्वच्छ शहर में प्रथम स्थान के सम्मान के लिए इंदौरवासियों, अधिकारियों एवं स्वच्छता योद्धाओं को बधाई। इस प्रोत्साहन और सम्मान के लिए यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का हृदय से आभार।’

दूसरे नंबर पर सूरत और फिर नवी मुंबई –

इंदौर फिर नबंर वन बन गया है। इसके साथ ही दूसरे नंबर पर सूरत और फिर नवी मुंबई का नाम है। इसके अलावा टॉप -10 में विजयवाड़ा, अहमदाबाद, राजकोट, भोपाल, चंडीगढ़, विशाखापटनम, बड़ोदारा शामिल हैं।

चौहान ने केंद्रीय मंत्री हरदीप एस पुरी के प्रति भी आभार व्यक्त किया है। स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के नतीजे आज दिन में ऑनलाइन कार्यक्रम के जरिए घोषित किए गए। इस कार्यक्रम में राज्य मंत्रालय से मुख्यमंत्री राज्य के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह और वरिष्ठ अधिकारी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए।

संपूर्ण विश्व में इंदौर का गौरव कायम हुआ – कलेक्टर मनीष सिंह

कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि इंदौर शहर के जागरुक नागरिक जनप्रतिनिधि, तात्कालीन महापौर, तात्कालीन आयुक्त आशीष सिंह और सफाई कर्मिचारियों की मेहनत का नतीजा है, जिससे इंदौर चौथी बार नंबर -1 पर आया है। इंदौर शहर के नागरिकों ने स्वच्छता की अदत को जनआंदोलन के रूप में लेकर इस शहर का मान-सम्मान और गौरव.. संपूर्ण विश्व में कायम किया है।

चौथा अवार्ड जनता को समर्पित – पूर्व महापौर मालिनी गौड

पूर्व महापौर मालिनी गौड का कहना है कि प्रधानमंत्री ने जिस प्रकार अभियान की शुरुआत की थी। हमने उसे मिशन बनाया और एक नहीं, दो नहीं तीन नहीं, चौथी बार नंबर वन आया है… हमारा इंदौर। शहर देश के चार हजार शहरों में नंबर वन आया है। इंदौर की पूरी जनता से धन्यवाद देती हूं, जिन्होंने हमारा नगर निगम का सहयोग किया और जिस तरह सभी लोग अवेयर हुए और इस जनता की अवेयरनेस के कारण हम आज इस स्थान तक पहुंचे हैं तो यह चौथा अवार्ड जनता को समर्पित करती हूं।

जागरुक नागरिकों की बदौलत है – कमिश्नर प्रतिभा पाल

इंदौर नगर निगम कमिश्नर प्रतिभा पाल का कहना है कि इंदौर ने तो हर बार ही नंबर वन आना है, इंदौर का जो स्वच्छता का ताज है, वह इंदौर के जागरुक नागरिकों की बदाैलत है। इंदौर की पूरी सफाई की टीम अाैर पूर्व महापौर मालिनी गौड़ और आशीष सिंह की मेहनत का नतीजा है, और हम आगे भी इस परंपरा को बरकरार रखते हुए आगे भी इंदौर नंबर वन आएगा।

आपको बता दें कि स्वच्छ सर्वेक्षण-2020 में इंदौर ने 4242 शहरों के बीच अपना पहला स्थान पक्का किया है। स्वच्छ सर्वेक्षण-2020 के अंतर्गत देश के 4242 शहरों ने भागीदारी की थी, जिसमें शहरों को साफ-सफाई से आगे स्वच्छता को संस्थागत स्वरूप देना और नागरिक सुविधाओं की उपलब्धता को प्रमुखता से शामिल किया गया था।

Spread the love